Dec 16, 2020
170 Views
0 0

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ‘स्वर्णिम विजय मशाल’ प्रज्ज्वलित करेंगे और भारत-पाक युद्ध की 50वीं वर्षगांठ के समारोहों की शुरुआत करेंगे

Written by

दिसंबर 1971 में, भारतीय सशस्त्र बलों ने पाकिस्तान सेना के खिलाफ एक निर्णायक और ऐतिहासिक जीत हासिल की थी, जिससे एक नये राष्ट्र बांग्लादेश का जन्म और दूसरे विश्व युद्ध के बाद का सबसे बड़ा सैन्य आत्मसमर्पण हुआ था। 16 दिसंबर से, पूरा देश भारत-पाक युद्ध की 50वीं वर्षगांठ मनाएगा, जिसे ‘स्वर्णिम विजय वर्ष’ नाम दिया गया है। इसकी याद में देश भर में कई कार्यक्रम करने की योजना बनाई गई है।

इसका उद्घाटन कार्यक्रम कल नई दिल्ली में नेशनल वॉर मेमोरियल (एनडब्ल्‍यूएम) में आयोजित किया जाएगा, जिसमें प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी शामिल होंगे। उनके आगमन पर, कार्यक्रम स्थल पर रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह प्रधानमंत्री की अगवानी करेंगे।

प्रधानमंत्री, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ और तीनों सेनाओं के प्रमुख माल्यार्पण करेंगे और शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देंगे। प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी इस मौके पर एनडब्‍ल्‍यूएम की अखंड ज्योति से ‘स्वर्णिम विजय मशाल’ प्रज्ज्वलित करेंगे। एनडब्‍ल्‍यूएम की अखंड ज्योति से चार विजय मशालों को प्रज्ज्वलित किया जाएगा। इन मशालों को देश के विभिन्न हिस्सों में ले जाया जाएगा, जिसमें 1971 के युद्ध के परमवीर चक्र और महावीर चक्र विजेताओं के गांव भी शामिल होंगे। इन पुरस्कार विजेताओं के गांवों और उन क्षेत्रों से, जहां पर 1971 में प्रमुख लड़ाइयां लड़ी गईं थी, मिट्टी को एनडब्‍ल्‍यूएम लाया जा रहा है।

पूरे देश में 1971 के युद्ध की याद में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जहां पर पूर्व सैनिकों और वीर नारियों को सम्मानित किया जाएगा. इसमें सेना के बैंड का प्रदर्शन, सेमिनार, प्रदर्शनी, उपकरणों का प्रदर्शन, फिल्म समारोह, संगोष्ठी और रोमांचक गतिविधियों के आयोजन जैसे कार्यक्रमों की योजना बनाई गई है।

इस मौके पर रक्षा राज्यमंत्री श्री श्रीपद येसो नाइक और रक्षा मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ सिविल व सैन्य अधिकारी उपस्थित रहेंगे।

Article Tags:
· ·
Article Categories:
National · Social

Leave a Reply

%d bloggers like this: