Apr 8, 2021
129 Views
0 0

ममता बनर्जी ने मुसलमानों से की वोट की अपील, चुनाव आयोग ने 48 घंटे के भीतर जवाब मांगा 

Written by

चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी को आचार संहिता के उल्लंघन के लिए नोटिस भेजा है। यह मामला ममता बनर्जी के उस बयान से संबंधित है जिसमें उन्होंने हुगली में मुस्लिम मतदाताओं से अपने वोटों को विभाजित न करने की अपील की थी। ममता बनर्जी ने मुस्लिम मतदाताओं से अपील करते हुए कहा कि वह अपने मतों को विभिन्न दलों में विभाजित न होने दें।

चुनाव आयोग ने माना है कि ममता बनर्जी ने चुनाव आचार संहिता के नियमों का उल्लंघन किया है, इसलिए उन्हें नोटिस भेजा गया है। चुनाव आयोग को 48 घंटे के भीतर जवाब देने को कहा गया है। केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व में भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने ममता बनर्जी के बयान के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी और आचार संहिता के तहत उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

ममता बनर्जी ने 3 अप्रैल को हुगली में मुस्लिम मतदाताओं के बारे में एक बयान दिया। ममता बनर्जी नंदीग्राम से तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार भी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में एक चुनावी रैली के दौरान ममता बनर्जी के बयान पर भी टिप्पणी की। चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी के नंदीग्राम में मतदान के दिन मतदाताओं को डराने के आरोपों को झूठा पाया था और मुख्यमंत्री द्वारा इस तरह के झूठे आरोपों पर खेद व्यक्त किया था।

चुनाव आयोग ने अपने पत्र में यह भी कहा कि आयोग इस मामले की जांच कर रहा है कि क्या चुनाव आचार संहिता के तहत आरोपों से निपटा जा सकता है। उधर, चुनाव आयोग से नोटिस मिलने के बाद टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने ट्वीट किया और चुनाव आयोग से पूछा कि क्या बीजेपी की शिकायत पर ममता दीदी को नोटिस भेजा गया था, लेकिन टीएमसी की शिकायत का क्या जो सबूत के तौर पर पेश किया गया था? भाजपा प्रत्याशी से नकद वितरण।

VR Sunil Gohil

Article Tags:
Article Categories:
Politics

Leave a Reply

%d bloggers like this: