Feb 8, 2021
174 Views
0 0

मीनारा – द डॉटर ऑफ तूतनखामेन

Written by

एक नई एडवेंचर पुस्तक  – जिसमे उस समय की कहानी है, जब मिस्र में फैरोह का साम्राज्य चल रहा था। मीनारा – द डॉटर ऑफ तूतनखामेन, अहमदाबाद की एक किशोरी द्वारा लिखा गया एक अद्भुत और अनोखा कल्पना चरित्र है।

(2020 में, विशाखा भटनागर ने कोविद महामारी के लोकडाउन के दौरान समय बिताने के इरादे से छोटी कहानियों के रूप में अपनी कल्पना को कागज पर उतारने के लिए एक यात्रा शुरू की। क्या उन्हें भी पता था कि ये कहानियाँ किताबों की एक श्रृंखला बन जाएँगी!)

6 फरवरी, २०२१ को अहमदाबाद, जो अपने समृद्ध सांस्कृतिक और भाषाई इतिहास के लिए जाना जाने वाला शहर है, वहां एक युवा लेखिका ने अपनी पहली ऐतिहासिक कथा, मीनारा – द डॉटर ऑफ तूतनखामेन के अनावरण के साथ कल्पनाजगत की दुनिया में प्रवेश किया। पुस्तक को एएमए, अटीरा परिसर, अहमदाबाद में लॉन्च किया गया था। वी पब्लिशर्स के विजनभाई रावल, मातृभारती के संस्थापक महेंद्रभाई शर्मा, गुजरात समचार के वरिष्ठ कोलमिस्ट पराजितभाई पटेल, अमेरिकन कॉर्नर के निर्देशक तेजल वसावाड़ा,  गुजरात इंटरनेशनल लिटरेचर फेस्टिवल के संस्थापक उमाशंकर यादव एवं गुजरात युनिवर्सिटी की प्राध्यापिका नूतन कोटक ईस अद्भूत कार्यक्रम मे उपस्थित थे।

मिनारा कैथरीन रिवेरा (उसके मुख्य चरित्र) और उसके दोस्तों के अद्भुत रोमांच के बारे में एक दिलचस्प समय-यात्रा की कहानी है क्योंकि उनकी दोस्ती को धमकी, विश्वासघात, दोस्ती, जादू और शब्द की वास्तविक परीक्षा का सामना करना पड़ता है और फिर भी ये दोस्ती यथावत्  है।

क्या कैथरीन और उसके दोस्त अपनी उम्मीदों से परे जाकर इन खतरों से बच पाएंगे ?

क्या मीनारा और महान फैरोह तूतनखामेन के बारे में कहानियां वास्तव में सच हैं, या सिर्फ मृगजल जैसी लोककथाएं जो मिस्र के विशाल रेगिस्तान के रेत के टीलों के बीच स्थित हैं?

आपको बस इतना करना है कि यह सारी जानकारी जानने के लिए मिनारा किताब पढ़ें।

फेसबुक पर विशाखा भटनागरको फॉलो करें- https://www.facebook.com/bhatnagarvishakha

Article Tags:
·
Article Categories:
Literature

Leave a Reply

%d bloggers like this: