Jan 6, 2021
227 Views
0 0

190 देशों द्वारा देसी कोवाक्सिन की प्रीबुक, रजत शर्मा ने फैलाई फर्जी खबर

Written by

भारत सरकार ने कोरोनावायरस को रोकने के लिए आपात स्थिति के लिए दो टीकों को मंजूरी दी है। इनमें सीरम इंस्टीट्यूट के कोविशिल्ड और भारत बायोटेक के कोवाक्सिन शामिल हैं। टीकों के बारे में हर दिन नए बयान सुनने को मिलते हैं। इंडिया टीवी के पत्रकार रजत शर्मा द्वारा एक संबंधित बयान भी दिया गया, जिस पर चर्चा हो रही है। हालांकि, वैक्सीन कंपनी ने एक अलग बयान दिया है।

कुछ दिन पहले, रजत शर्मा ने ट्वीट किया कि हमारे देश में बना टीका प्रभावी, सस्ता और स्टोर करने में आसान है। यह नरेंद्र मोदी की नीति और हमारे वैज्ञानिकों की विशेषज्ञता का प्रतीक है। बिना किसी कारण के संदेह करने वालों को पता होना चाहिए कि इस टीका की अग्रिम बुकिंग 190 देशों द्वारा की गई है।

इंडिया टीवी के रिपोर्टर ने वैक्सीन पर सवाल उठाने वालों की ओर इशारा करते हुए कहा, “जो लोग भारत में बनी वैक्सीन की आलोचना कर रहे हैं, उन्हें इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि 190 देशों की सरकारों के एक कंसोर्टियम ने अब वैक्सीन की 2 बिलियन डोज बुक कर ली हैं।” लोग अफवाहों पर ध्यान नहीं देते, वे तथ्यों पर विश्वास करते हैं। इतना ही नहीं रजत शर्मा ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी को भी टैग किया।

लेकिन जब फैक्ट-चेकिंग वेबसाइट ऑल्ट न्यूज़ ने रजत शर्मा के ट्वीट को चेक किया तो पता चला कि उनका दावा झूठा था। 3 जनवरी -21 को, भारत बायोटेक ने एक बयान जारी कर कहा कि हम दुनिया भर के लोगों को वैक्सीन उपलब्ध कराना चाहते हैं। कई देशों के अधिकारियों ने भी इसे देखते हुए इंडिया बायोटेक प्लांट का दौरा किया। लेकिन किसी भी देश द्वारा कोई अग्रिम बुकिंग नहीं की गई थी। हालांकि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 18 दिसंबर को कहा कि हम कोवेक्स नामक एक परियोजना शुरू करना चाहते थे, जिसमें दुनिया भर के लगभग 190 देश शामिल होंगे।

Article Tags:
Article Categories:
Healthcare

Leave a Reply

%d bloggers like this: