Jul 20, 2022
11 Views
0 0

कृषि एवं ग्रामीण श्रमिकों के लिए अखिल भारत उपभोक्ता मूल्य सूचकांक – जून, 2022

Written by

कृषि एवं ग्रामीण श्रमिकों के लिए अखिल भारत उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (आधार 1986-87 = 100) माह जून, 2022 में प्रत्येक 6 अंक बढ़ कर क्रमशः 1125 (एक हजार एक सौ पच्चीस) तथा 1137 (एक हजार एक सौ सैंतीस) अंकों के स्तर पर रहे । सूचकांक के इस बदलाव में मुख्य योगदान खाद्य समूह का क्रमशः 3.69 और 3.79 अंक रहा । यह वृद्धि मुख्यतः चावल, गेहूँ-आटा, ज्वार, मक्का, दूध, बकरे का मांस, ताज़ा मछली, ताज़ा मुर्गी, सूखी मिर्च, गरम मसाले, सब्जियाँ एवं फल, इत्यादि की कीमतों के कारण रही ।

 

विभिन्न राज्यों के सूचकांकों में वृद्धि भिन्न-भिन्न रही । कृषि श्रमिकों के लिए 19 राज्यों के सूचकांकों में 1 से 10 अंकों की वृद्धि रही जबकि जम्मू एवं कश्मीर राज्य का सूचकांक स्थिर रहा । तमिलनाडु राज्य का सूचकांक 1299 अंकों के साथ सूचकांक तालिका में शिखर पर रहा जबकि हिमाचल प्रदेश राज्य का सूचकांक 884 अंकों के साथ सबसे नीचे रहा ।

 

ग्रामीण श्रमिकों के लिए 20 राज्यों के सूचकांकों में 1 से 10 अंकों की वृद्धि रही । तमिलनाडु राज्य का सूचकांक 1289 अंकों के साथ सूचकांक तालिका में शिखर पर रहा जबकि हिमाचल प्रदेश राज्य का सूचकांक 935 अंकों के साथ सबसे नीचे रहा ।

 

राज्य स्तर पर, कृषि श्रमिकों के उपभोक्ता मूल्य सूचकांकों में केरल राज्य एवं ग्रामीण श्रमिकों के उपभोक्ता मूल्य सूचकांकों में मध्य प्रदेश में अधिकतम वृद्धि प्रत्येक 10 अंकों की मुख्यत: ज्वार, टैपिओका, ताज़ा मछली, सूखी मिर्च, सब्जियाँ एवं फल, प्लास्टिक के जूते, इत्यादि की कीमतों में बढ़ोत्तरी के कारण रहीं ।

कृषि एवं ग्रामीण श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रा स्फीति की यथार्थ दर माह जून, 2022 में 6.43% और 6.76% रही जो कि मई, 2022 में 6.67% और 7.00% तथा गत वर्ष के इसी माह के दौरान क्रमशः 3.83% और 4.00% थी । इसी तरह, खाद्य मुद्रास्फीति की यथार्थ दर माह जून, 2022 में 5.09% और 5.16% रही जो कि मई, 2022 में 5.44% और 5.51% तथा गत वर्ष के इसी माह के दौरान क्रमशः 2.67% और 2.86% थी ।

Article Tags:
· ·
Article Categories:
Agriculture · Economic

Leave a Reply