Jun 12, 2022
8 Views
0 0

चीन की Tencent ने खरीदी फ्लिपकार्ट में 26.64 करोड़ हिस्सेदारी, अब बिन्नी बंसल के पास है हिस्सेदारी

Written by

चीनी प्रौद्योगिकी कंपनी Tencent ने फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक बिन्नी बंसल से ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी खरीदी है। आधिकारिक दस्तावेजों के मुताबिक, Tencent की यूरोपीय सब्सिडियरी के साथ यह डील 264 मिलियन डॉलर (करीब 2,060 करोड़ रुपये) की है। फ्लिपकार्ट का मुख्यालय सिंगापुर में है और इसका संचालन भारत तक सीमित है।

 

 

 

 

 

 

 

 

टेनसेंट क्लाउड यूरोप बीवी के साथ सौदे के बाद फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक बिन्नी बंसल की हिस्सेदारी लगभग 1.84 प्रतिशत तक गिर गई है। यह सौदा 26 अक्टूबर, 2021 को पूरा हुआ और चालू वित्त वर्ष की शुरुआत में सरकारी अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई।

 

 

 

 

कितनी हिस्सेदारी खरीदी

 

 

 

 

 

 

 

Tencent की सब्सिडियरी के पास अब फ्लिपकार्ट का 0.72% हिस्सा है। जुलाई 2021 तक, फ्लिपकार्ट ने सिंगापुर स्थित सॉवरेन वेल्थ फंड GIC, सॉफ्टबैंक विजन फंड 2 और वॉलमार्ट के नेतृत्व में फंडिंग के एक दौर में 3.6 बिलियन डॉलर जुटाकर 37.6 बिलियन डॉलर जुटाए थे। टेनसेंट और बिन्नी बंसल के बीच डील फंडिंग राउंड के बाद हुई। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह डील सिंगापुर में हुई है।

 

 

 

 

 

 

 

नियमों का उल्लंघन नहीं

 

 

 

 

 

 

 

फ्लिपकार्ट का कहना है कि यह एक जिम्मेदार कंपनी है और यह सौदा प्रेस नोट 3 को कवर नहीं करता है। दरअसल, प्रेस नोट 3 के मुताबिक अगर किसी कंपनी को भारत की सीमा से लगे देश से फंडिंग मिलती है तो निवेश की जांच की जाएगी। गौरतलब है कि भारत ने Tencent के PUBG गेम को बैन कर दिया है। फ्लिपकार्ट के अलावा, Tencent की कई भारतीय कंपनियों में भी हिस्सेदारी है। जिसमें ओला और बैजू जैसी बड़ी ऑनलाइन कंपनियां शामिल हैं।

 

 

 

 

 

 

फ्लिपकार्ट को अक्टूबर 2007 में लॉन्च किया गया था। फ्लिपकार्ट के पास अब 80 श्रेणियों में 80 मिलियन उत्पाद हैं। फ्लिपकार्ट की स्थापना सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने की थी। शुरुआत में, वेबसाइट ने केवल ऑनलाइन किताबें बेचना शुरू किया। उसके बाद धीरे-धीरे कंपनी का विस्तार हुआ। 2014 में उन्होंने मिंत्रा का अधिग्रहण किया। 2016 में, यह 50 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं वाला पहला भारतीय एप्लिकेशन बन गया।

Article Tags:
·
Article Categories:
Business

Leave a Reply

%d bloggers like this: