Jul 7, 2022
22 Views
0 0

टीम इंडिया का WTC फाइनल में पहुंचना मुश्किल: ऑस्ट्रेलिया-बांग्लादेश से खेलेगा भारत कुल 6 टेस्ट

Written by

इंग्लैंड ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के फाइनल में टीम इंडिया को सात विकेट से हराकर सीरीज 2-2 से बराबर कर ली। परिणाम ने भारतीय टीम के इंग्लैंड में श्रृंखला जीतने का सपना 15 साल बाद अधूरा छोड़ दिया है और विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में पहुंचना लगभग असंभव बना दिया है। भारतीय टीम ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का पहला फाइनल खेला। तब भारत ने 70% से अधिक अंक बनाए और फाइनल में जगह बनाई। डब्ल्यूटीसी अंक तालिका का प्रतिशत अंकों के आधार पर निर्धारित किया जाता है। इस बार भारतीय टीम के लिए 70% अंक हासिल करना बेहद मुश्किल है। भारत के अब भी 12 मैचों से 75 अंक हैं। एक टेस्ट जीतने से 12 अंक मिलते हैं, यानी भारत के कुल 144 में से 77 अंक हैं, यानी 53.47%। भारत को अभी भी छह टेस्ट खेलने हैं, चार टेस्ट ऑस्ट्रेलिया (भारत) के खिलाफ और दो बांग्लादेश (बांग्लादेश) के खिलाफ हैं। भले ही भारतीय टीम सारे टेस्ट जीत ले, उसके 68. केवल 98% अंक का मतलब होगा कि भारतीय टीम 70% तक नहीं पहुंच पाएगी। हालांकि भारतीय टीम 68.98% अंकों के साथ फाइनल में पहुंच सकती है लेकिन एक हार स्थिति बदल देगी। अगर भारतीय टीम अगले छह में से एक टेस्ट हार जाती है और पांचवां मैच जीत जाती है तो उसके 63.42 अंक हो जाएंगे। इतने ही अंकों के साथ फाइनल में पहुंचना असंभव है। ऐसे में भारत फाइनल में तभी पहुंच पाएगा जब पाकिस्तान, अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया की दो टीमें बेहद खराब खेलेंगी। डब्ल्यूटीसी पॉइंट टेबल की मौजूदा स्थिति को देखते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम फाइनल में पहुंचने की सबसे बड़ी दावेदार है। ऑस्ट्रेलिया के अभी 77.78 फीसदी अंक हैं। भारत में सीरीज ऑस्ट्रेलिया के लिए मुश्किल हो सकती है लेकिन वे घर में भी कई टेस्ट खेलेंगे। अफ्रीका के वर्तमान में 71.43% अंक हैं जबकि पाकिस्तान के 52.38% अंक हैं। अफ्रीका की इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के दौरे की योजना है। अगर टीम इन दोनों दौरों पर अच्छा खेलती है तो फाइनल में पहुंच सकती है। वहीं पाकिस्तान को घर में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलना है और श्रीलंका का भी दौरा करना है। ये तीन सीरीज पाकिस्तान के भाग्य का फैसला करेगी।

Article Tags:
· ·
Article Categories:
Sports

Leave a Reply