May 23, 2022
38 Views
0 0

मेकमाईट्रिप पर ‘बुक नाउ पे लेटर’ विकल्प द्वारा फ्लाईट एवं होटल बुक करें

Written by

भारत की अग्रणी ऑनलाईन ट्रैवल कंपनी, मेकमाईट्रिप ने ट्रैवल (होटल या फ्लाईट्स) की बुकिंग के लिए बुक नाउ पे लेटर (बीएनपीएल) की सुविधा शुरू की है। मेकमाईट्रिप और गोआईबीबो ऐप पर उपलब्ध यह सुविधा भारतीयों द्वारा अपनी यात्रा का भुगतान करने के तरीके में परिवर्तन ले आएगी। मेकमाईट्रिप के फिनटेक आर्म, ट्रिपमनी ने 15 अग्रणी फिनटेक कंपनियों और एनबीएफसी/बैंक के साथ एक मार्केटप्लेस स्थापित कर लिया है, जिनमें कैपिटल फ्लोट, ज़ेस्ट मनी, आईडीएफसी बैंक, किश्त, लेज़ीपे, सिंपल, एचडीएफसी बैंक आदि शामिल हैं। इस सुविधा द्वारा मुसाफिरों को यात्रा करने के लिए आसान क्रेडिट उपलब्ध हो सकेगा। बीएनपीएल प्रस्तुत करने के अलावा, कंपनी अग्रणी बैंकों द्वारा आसान ईएमआई सुविधा भी प्रदान करती है, ताकि मुसाफिरों को ज्यादा लचीलापन और भुगतान विकल्प उपलब्ध हो सकें।

 

प्लेटफॉर्म के द्वारा बीएनपीएल का विकल्प चुनने की प्रक्रिया सुगम व आसान है। बुकिंग के वक्त बिना कोई भुगतान किए सफर करने के इच्छुक मुसाफिरों को पार्टनर एनबीएफसी और बैंकों द्वारा कुछ ही सेकंड में शॉर्ट टर्म क्रेडिट दिया जाएगा। इस प्रक्रिया के लिए बैंक व एनबीएफसी एक अंडरराईटिंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करेंगे, जिसमें डेटा साईंस मॉडल का इस्तेमाल कर ऋण के लिए ग्राहक की पात्रता या साख़ का मूल्यांकन किया जाता है।

 

मेकमाईट्रिप पर बीएनपीएल को शुरू में बहुत ही शानदार प्रतिक्रिया मिली है। पिछले एक साल में कंपनी ने तिमाही-दर-तिमाही बीएनपीएल विनिमयों में 60 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। वर्तमान में बीएनपीएल का विकल्प चुनने वाले 75 प्रतिशत से ज्यादा ग्राहक नो-कॉस्ट ईएमआई (3 महीनों में देय) चुनते हैं और शेष लोग ज्यादा लंबे समय की ईएमआई का विकल्प चुनते हैं।

कंपनी द्वारा प्रस्तुत विभिन्न लचीले भुगतान विकल्पों के फायदों के बारे में, राजेश मैगो, को-फाउंडर एवं ग्रुप सीईओ, मेकमाईट्रिप ने कहा, ‘‘पिछले सालों में मेकमाईट्रिप ने भारत में ग्राहकों के लिए यात्रा के अनुभवों का सृजन करने में मुख्य भूमिका निभाई है। बीएनपीएल और ईएमआई विकल्प हमारे ग्राहकों को आकर्षक शर्तों के साथ आसान व तीव्र शॉर्ट टर्म क्रेडिट प्रदान करने में मदद करेंगे। इससे मुसाफिरों को समय-समय पर नई जगहों पर घूमने की अपनी इच्छाएं पूरी करने में मदद मिलेगी।’’

 

 

Article Tags:
Article Categories:
Business · Economic

Leave a Reply