Dec 7, 2020
190 Views
0 0

यस बैंक के निवेशकों के लिए खुशखबरी, यह लाभ कल से होगा प्रभावी

Written by

आर्थिक रूप से ध्वस्त येस बैंक धीरे-धीरे ठीक हो रहा है। भारतीय स्टेट बैंक ने उस बैंक का ध्यान रखा है, जो इस साल की शुरुआत में आरबीआई की निगरानी में था। अब बैंक अपने कारोबार के विस्तार के लिए प्रयास कर रहा है। यस बैंक को पिछले कुछ दिनों से अच्छे परिणाम मिल रहे हैं।

यस बैंक के शेयरों में लगातार तेजी रही है। जिसके कारण बैंक की बाजार पूंजी भी बढ़ी है। अब यस बैंक के शेयरों के शेयर बाजार में मिडकैप से लार्ज कैप में स्थानांतरित होने की अधिक संभावना है। अगर सब ठीक रहा तो बैंक लार्ज कैप कंपनियों के क्लब में शामिल हो जाएंगे। वित्तीय सेवा फर्म आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने बैंक के साथ-साथ चार अन्य कंपनियों के शेयरों को मिडकैप से लार्ज कैप में स्थानांतरित करने की संभावना व्यक्त की है। वास्तव में, लार्ज-कैप श्रेणी में शामिल होने के लिए, कंपनी के पास मिडकैप मार्केट कैप की तुलना में कम से कम 276 बिलियन रुपये या 27,600 करोड़ रुपये होने चाहिए। बैंक का वर्तमान में मार्केट कैप 33,300 करोड़ रुपये है। यह अनुमान लगाया जा रहा है कि यस बैंक को लार्ज कैप श्रेणी में शामिल किया जा सकता है। शेयर बाजार में मार्केट कैप के मामले में येस बैंक 88 वें स्थान पर है। Assoc। म्यूचुअल फंड ऑफ इंडिया 5 जनवरी को शेयरों की नई सूची जारी करेगा।

यस बैंक के सर्किट फिल्टर को सोमवार से बदल दिया जाएगा। एनएसई ने कुल 302 शेयर सर्किट फिल्टर को प्रतिस्थापित किया है। यस बैंक के 10 फीसदी सर्किट फिल्टर अब सोमवार को लागू होंगे। पिछले कुछ दिनों से यस बैंक के शेयरों में एक तरह की तेजी देखी गई है। बैंक ने मौजूदा तिमाही में खुदरा विक्रेताओं और एमएसएमई को 10,000 करोड़ रुपये का ऋण देने का लक्ष्य रखा है, जो दिसंबर में समाप्त होगा। बैंक ने सितंबर तिमाही में खुदरा और एमएसएमई को 6,800 करोड़ रुपये का ऋण दिया था। यस बैंक की रणनीति के बारे में, रिटेल बैंकिंग के ग्लोबल हेड, राजन पटेल ने कहा, “हम 2023 तक अपनी खुदरा और एमएसएमई परिसंपत्तियों के साथ ऋण पुस्तिका को दोगुना करना चाहते हैं।” वर्ष 2023 तक बैंक के पास अपने पोर्टफोलियो को 60 प्रतिशत तक विस्तारित करने की एक विशेष योजना है।

Article Tags:
Article Categories:
Economic · National

Leave a Reply

%d bloggers like this: