Nov 30, 2020
198 Views
0 0

यूएस एफबीआई वीरमगाम के भद्रेश पटेल को तलाश रही है, पता बताने वाले को 74 लाख रुपये मिलेगे।

Written by

बहुत से लोगों का सपना है कि वे घर पर रहकर विदेशों में डॉलर कमाएं। लेकिन कभी-कभी विदेशी धरती पर ऐसे कांड हो जाते हैं कि घोटाला भी वैश्विक हो जाता है। अमेरिकी संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) ने भारतीय मूल के गुजराती भद्रेश कुमार चेतनभाई पटेल को पकड़ने की सूचना के लिए 100,000 इनाम की घोषणा की है। यह राशि रु। 7,96,245 है।

अमेरिकी जांच एजेंसी के अनुसार, भद्रेश कुमार पटेल का जन्म गुजरात के विरामगाम तालुका के कांटोदरी गाँव में हुआ था। यह व्यक्ति जांच एजेंसी द्वारा जारी की गई सबसे वांछित सूची में से एक है। एजेंसी द्वारा वर्ष 2017 में सूची तैयार की गई थी। शुक्रवार को जांच एजेंसी ने उनका नाम और इनाम के बारे में ट्वीट करके लोगों का ध्यान आकर्षित किया। साल 2015 है। भद्रेश कुमार ने अपनी पत्नी पलक की हत्या मैरीलैंड के हनोवर में डंकिन डोनट्स कॉफ़ी शॉप में कर दी।

हत्या के बाद वह फरार हो गया। साल 2017 में इसे मोस्ट वांटेड की सूची में रखा गया था। लेकिन जांच एजेंसी द्वारा उसे नहीं पकड़ा गया। इसके लिए एक लाख डॉलर के पुरस्कार की घोषणा की गई है। एजेंसी ने कहा कि जो कोई भी उस आदमी के बारे में जानता है, जहां वह रहता था, एजेंसी या निकटतम अमेरिकी दूतावास से संपर्क करेगा। जब वह मामले में शामिल था तब उसकी उम्र 24 साल थी। जब पत्नी 21 साल की थी। कॉफी शॉप के पीछे किचन में ग्राहक भी मौजूद थे, जब भद्रेश ने खाना बनाने में इस्तेमाल होने वाले चाकू से उस पर वार किया। उन्होंने आखिरकार न्यू जर्सी के एक होटल से नेवार्क के लिए एक ट्रेन के लिए टैक्सी ली। उस समय, पुलिस टीम अल्टोमेयर ने कहा, मामले में हिंसा भड़क गई थी। दिल दहला देने वाले दृश्य थे।

Article Tags:
·
Article Categories:
Crime · International

Leave a Reply

%d bloggers like this: