May 11, 2022
22 Views
0 0

सोनी बीबीसी अर्थ के इन नन्हे और प्यारे एनिमल बेबीज के करीब आएं और उनके साथ वक्त बिताएं

Written by

जानवरों के छोटे-छोटे बच्चे! ये ना केवल बेहद प्यारे हैं, बल्कि इनमें से हर किसी की अपनी एक अलग कहानी है। उनकी दुनिया के बारे जानना कितना अद्भुत होगा न? उनके जन्म से लेकर उनके बचपन के दिन ढेर सारे बेहतरीन पलों से भरे हुए हैं। अपने शुरूआती समय में भले ही वे अपनी माँओं पर काफी निर्भर होते हैं, लेकिन ये एनिमल बेबीज अपना रास्ता ढूंढ ही लेते हैं। यह देखना बड़ा ही दिलचस्प अनुभव होता है कि कैसे वे बड़ों से जीवन और प्रकृति के बारे में सीखते हैं।

 

जानवरों के नन्हे बच्चों पर बने सोनी सब के बीबीसी अर्थ के शोज, उन नन्हे-नन्हे जानवरों के जीवन के हर चरण का साक्षात्कार कराते हैं- अपनी माँओं की छत्रछाया में पलने से लेकर एक आत्मनिर्भर वयस्क बनने तक का सफर का एक-एक चरण। नीचे कुछ शोज के बारे में बताया गया जो दर्शकों को रोमांचक सीक्वल में ले जाते हैं और हर किसी का दिल जीत रहे हैं।

 

द वंडरफुल वर्ल्ड ऑफ एनिमल बेबीज

हाथी का प्यारा बच्चा। जिज्ञासु पेंगुइन चूजे। सील के शराराती बच्चे। यह शो आपको नवजात जानवरों के जीवन के सबसे महत्वपूर्ण और प्रायोगिक महीनों के बारे में जानकारी देगा। द वंडरफुल वर्ल्ड ऑफ एनिमल बेबीज में सभी प्यारे एनिमल बेबीज की कड़ी परीक्षाओं, मुश्किलों और जीत को दिखाया जाएगा। आप उन्हें उनके कुछ बेहद कमजोर क्षणों में देख पाएंगे और ऐसे क्षण भी जब उन्हें लगेगा कि उन्हें कोई नहीं देख रहा है। जानें कि उनके खुशमिजाज – और कभी-कभी अजीब – व्यवहार की क्या वजह है। द वंडरफुल वर्ल्ड ऑफ एनिमल बेबीज, कुछ और नहीं बल्कि देखने लायक शो है। ड्रामा, प्रेम और साहस से भरी दुनिया, जहाँ एनिमल बेबीज नये साहसिक कदम उठाते हैं और पहली बार अपने आसपास की दुनिया से परिचित होते हैं।

 

एनिमल बेबीज- फर्स्ट ईयर ऑन अर्थ

एनिमल बेबीज : फर्स्ट ईयर ऑन अर्थ में, जानवरों के छह नवजातों की नाटकीयता से भरी जिंदगी को दिखाया गया है कि कैसे वे बड़े होते हैं और जंगल में उनके पहले साल का अनुभव कैसा होता है। इस शो में अद्भुत व्यवहार, भावनात्मक कहानियाँ और विज्ञान के रहस्योद्धटन दिखाए गए हैं। नवजातों, ट्रूप्स और समुदायों के साथ टैग करें और उनकी दुनिया को अलग लेकिन बेहद प्यारे रूप में अनुभव करें। चाहे वे श्रीलंका के जंगलों में हों या केन्या के सवाना में, हर जानवर को अपने माहौल में ढलना ही होता है। पहाड़ी गोरिल्ला का बच्चा जंगल की भूलभुलैया का पता लगा लेता है। एक नन्हा हाथी सीखता है कि कैसे अपने दोस्त को शत्रु के बारे में आगाह करना है। और आर्कटिक लोमड़ी शावकों का एक झुंड क्रूर सर्दियों के खत्म होने से पहले आत्मनिर्भर बनने की दौड़ में है। अंतरंग पहुंच, विशेषज्ञ ज्ञान और शानदार क्षणों के साथ, यह शो जानवरों और उनके बच्चों को देखने के नजरिये को बदल देगा।

 

द वंडरफुल वर्ल्ड ऑफ पपीज

भला पपीज किसे प्यारे नहीं होते? अगर आप पपी डॉग की प्यारी आँखों पर आप मोहित नहीं हुए, तो अनेक लोग आपको संगदिल इंसान कह सकते हैं। द वंडरफुल वर्ल्ड ऑफ पपीज, मुख्यरूप से नन्हे पिल्लों और उनकी माँओं पर केंद्रित है। पपीज की नजरों से दुनिया को देखिये, जिसमें उन नन्हे जानवरों के विकास के अलग-अलग चरणों को दिखाया गया है कि कैसे वे सीखते हैं, प्यार करते हैं और बड़े होते हैं।

इन नन्हे जानवरों के बारे में और उनके निडरता भरे कदम जो वे अपने आस-पास की दुनिया को जानने के लिये उठाते हैं, के बारे में जानना कितना अद्भुत है? तो ऐसे ही कुछ मजेदार जानकारियों के साक्षी बनें और इसी मई महीने में सोनी बीबीसी अर्थ के शोज में उन्हें देखें।

 

 

Article Tags:
·
Article Categories:
Social

Leave a Reply

%d bloggers like this: