Sep 20, 2021
100 Views
0 0

भारतीय एसएमबी के नियोबैंक फ्लोबिज ने सिकोइया कैपिटल इंडिया और अन्य से सीरीज बी फंडिंग राउंड में 31 मिलियन डॉलर की पूंजी जुटाई

Written by

  • कंपनी का प्रमुख उत्पाद, मायबिलबुक, एक सरल और किफायती जीएसटी बिलिंग और लेखा सॉफ्टवेयर है
  • एप्‍प पर एसएमबी मासिक रूप से 1 अरब डॉलर से अधिक का लेनदेन रिकॉर्ड करते हैं
  • जुटाई गई पूंजी का इस्तेमाल फ्लोबिज टीम के विस्तार, उत्पाद विकास और वितरण विस्तार में करेगी
  • कंपनी अगले 6 महीनों के भीतर अपनी इंजीनियरिंग, उत्पाद और डेटा टीमों को तीन गुना करना चाहती है

 

भारत, 20 सितंबर 2021: तेजी से बढ़ते भारतीय एसएमबी के नियो बैंक, फ्लोबिज ने सिकोइया कैपिटल इंडिया, थिंक इन्वेस्टमेंट्स और इसके मौजूदा निवेशकों एलिवेशन कैपिटल और बीनेक्स्ट के नेतृत्व में सीरीज बी राउंड में 31 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। जुटाई गई फंडिंग का इस्तेमाल टीम का विस्तार, उत्पाद विकास और वितरण को बढ़़ाने में किया जाएगा ताकि और अधिक कारोबारों की सेवा की जा सके। फ्लोबिज संगठन के भीतर अतिरिक्त तकनीकी क्षमताओं के निर्माण पर भी ध्यान केंद्रित करेगा, क्योंकि यह जल्द ही वित्तीय सेवाओं के क्षेत्र में कदम रखने की तैयारी कर रहा है।

 

हालिया फंडिंग राउंड में 9 यूनिकॉर्न्‍स और व्हाइटबोर्ड कैपिटल के साथ विजय शेखर शर्मा (पेटीएम), कुणाल शाह (सीआरईडी), जितेन गुप्ता (ज्‍यूपिटर), अमरीश राउ (पाइन लैब्स), नीरज अरोड़ा (हैलो एप), नितिन गुप्ता (यूनी कार्ड्स), अंकित तोमर (बिजोंगे), सयाली करंजकर (पे सेंस) और कृष्णन मेनन (बुकुकास) में मशहूर निवेशकों ने भागीदारी की।

 

फ्लोबिज के प्रमुख उत्पाद मायबिल बुक को जनवरी 2020 में एसएमबी कारोबारियों को इनवॉइसिंग की प्रक्रिया को डिजिटाइज़ करने, व्यावसायिक लेखांकन को कारगर बनाने और अपने उद्यमों के कार्यप्रवाह को स्वचालित करने में मदद करने के मकसद से लॉन्च किया गया था। यह कुशल निर्णय लेने में सक्षम बनाने के लिए इन्वेंट्री को बनाए रखने, प्राप्य और देय राशि का प्रबंधन करने और महत्वपूर्ण व्यावसायिक रिपोर्ट तक पहुंचने में मदद करता है। एक मिलियन से अधिक मासिक सक्रिय यूजर्स या उपयोगकर्ताओं के साथ एसएमबी अब हर महीने माय बिलबुक पर 1 अरब डॉलर से अधिक मूल्य के लेनदेन का रिकॉर्ड रखते हैं।

 

मायबिलबुक फिलहाल अंग्रेजी, हिंदी, गुजराती और तमिल भाषा में उपलब्ध है और यह व्यवसायिक श्रेणी में गूगल प्ले स्टोर पर लगातार सर्वाधिक रेटिंग वाला एप्‍प रहा है। कंपनी का लक्ष्य अगले 6 महीनों के भीतर कम से कम 5 और क्षेत्रीय भाषाओं में एप्‍प को लॉन्च करना है। मायबिलबुक भारत के टियर 2 और टियर 3 शहरों में तकनीकी की कम समझ रखने वाले एसएमबी मालिकों के इसके इस्तेमाल और डिजिटल लेखा जोखा के अऩुभव को सुखद बनाने के लिए एआई और इमेज प्रोसेसिंग जैसी तकनीकों का और व्यापक रूप से इस्तेमाल करेगा।

 

फ्लोबिज के सह-संस्थापक और सीईओ राहुल राज ने कहा, “एसएमबी हमारी अर्थव्यवस्था और हमारे दैनिक जीवन का एक बड़ा हिस्सा हैं। फ्लोबिज टीम में हर कोई हमारे आस-पास के छोटे और मध्यम व्यवसायों के विकास को शक्ति देकर प्रभाव पैदा करने के गहरे जुनून से प्रेरित है। इसने हमारी विचारशील उत्पाद विकास प्रक्रिया और पूरे संगठन में ग्राहकों के प्रति व्यापक जुनून को पैदा किया है।” उन्होंने कहा, “हमारे मौजूदा निवेशकों के अलावा, हम सिकोइया कैपिटल इंडिया और थिंक इन्वेस्टमेंट्स के साथ-साथ एंजल निवेशकों के हमारे मिशन पर भरोसा जताए जाने को लेकर बेहद उत्साहित हैं। यह ताकत हमें उन परियोजनाओं में तेजी लाने में मदद करेगी जो अब तक काम कर रही हैं, जिसमें मायबिलबुक में वैयक्तिकृत मॉड्यूल और सुविधाओं का निर्माण, मुख्य उत्पाद पेशकशों में विविधता लाना और वित्तीय सेवाओं को शुरू करने की तैयारी करना शामिल है। अगले 12 महीनों में हमारे एसएमबी भागीदारों को और अधिक खुशी प्रदान करने के लिए हमारे पास पाइपलाइन में और भी कई विकास कार्यक्रम शामिल हैं।’’

 

सिकोइया कैपिटल इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर तेजस्वी शर्मा ने कहा, “छोटे व्यवसाय हमारी अर्थव्यवस्था के असली नायक हैं। टेक्‍नोलॉजी के साथ एसएमबी अर्थव्यवस्था को शक्ति देने के लिए हमें एसएमबी के बारे में गहरी समझ, अनुभूति और सहानुभूति को समझने की आवश्यकता है। हम वास्तव में फ्लोबिज संस्थापकों की यूजर्स केंद्रित, उत्पाद फोकस और प्रयोगात्मक दृष्टिकोण से प्रभावित हैं। यह पूरी तरह से बाजार के मुताबिक है। टीम भारत के बढ़ते एसएमबी के लिए एक नियोबैंक बनाने के अपने मिशन पर फ्लोबिज के साथ साझेदारी करने के लिए तैयार है।’’

 

एलिवेशन कैपिटल के पार्टनर मृदुल अरोड़ा ने कहा, “उपभोक्ताओं के रूप में, अधिकांश एसएमबी मालिक सर्वश्रेष्ठ एप्‍प और सॉफ्टवेयर उत्पादों के संपर्क में हैं। पिछले 18 महीनों में डिजिटल अपनाने में तेजी के साथ, उन उच्च मानकों से मेल खाने वाले व्यावसायिक टूल और सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता पहले से कहीं अधिक तीव्र हो गई है और इस सेगमेंट में माय बिलबुक अग्रणी है। हमें फ्लोबिज के साथ अपनी साझेदारी को और अधिक मजबूत करने का मौका मिला है क्योंकि वे माय बिलबुक और अधिक बेहतर एसएमबी उत्पादों का निर्माण जारी रखते हैं और एसएमबी मालिकों के लिए पसंद का नियोबैंक बनने के लिए फ्लोबिज प्लेटफॉर्म का विस्तार कर रहे हैं।”

 

देश भर में 5 मिलियन से अधिक डाउनलोड के साथ, माय बिलबुक एप्‍प की महाराष्ट्र, दिल्ली एनसीआर, उत्तर प्रदेश, गुजरात और तमिलनाडु जैसे क्षेत्रों में मजबूत उपस्थिति है, जो इसके कुल यूजर्स आधार का आधे से अधिक हिस्सा है। फ्लोबिज बिहार, राजस्थान, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल जैसे अन्य क्षेत्रों में विकास पर ध्यान केंद्रित करते हुए इन क्षेत्रों में अपनी उपस्थिति को मजबूत करना जारी रखेगा। तेजी से बढ़ते विकास पथ को सक्षम करने के लिए, फ्लोबिज अगले 6 महीनों के भीतर अपनी इंजीनियरिंग, उत्पाद और डेटा टीमों को तीन गुना करना चाहता है। सीरीज बी में 31 मिलियन डॉलर की पूंजी जुटाने से पहले फ्लोबिज ने मार्च 2021 में एलिवेशन कैपिटल और मौजूदा निवेशकों से सीरीज ए में 10 मिलियन डॉलर की रकम जुटाई थी।

 

To view the FloBiz series B funding announcement video click the below link: https://www.youtube.com/watch?v=iJjKp26Wt-s

 

https://twitter.com/startupkesari (Rahul Raj)
https://twitter.com/beenextVC (Beenext)
https://twitter.com/sequoia_india?s=21 (Sequoia Capital)
https://twitter.com/ElevCap (Elevation Capital)

 

 

 

फ्लोबिज के विषय में

फ्लोबिज एसएमबी यानी छोटे और मझोले कारोबारों का नियो बैंक है, जिसका मकसद  डिजिटलीकरण के जरिए छोटे और मझोले कारोबारों की आर्थिक तरक्की को गति देना है। आईआईटी और बिट्स पिलानी के पूर्व छात्र के द्वारा 2019 में स्थापित फ्लोबिज फिनटेक कंपनी है, जिसे एलिवेशन कैपिटल, ग्रीनओक्स कैपिटल, बीनेक्स्ट और थिंक इनवेस्टमेंट जैसे निवेशकों का समर्थन है। यह स्टार्टअप डिजिटलीकरण के अभियान को आगे बढ़ा रहा है ताकि भारतीय एसएमबी सेक्टर के समक्ष मौजूद सबसे बड़ी चुनौती का समाधान कर आत्मनिर्भर भारत के अभियान को मजबूती दी जा सके। फ्लोबिज ने अपने महत्वपूर्ण प्रॉडक्ट माय बिलबुक को वर्ष 2020 की शुरुआत में लॉन्च किया था और यह गूगल प्ले स्टोर पर भारत के शीर्ष एप्‍प की सूची में शामिल है।

Article Categories:
Banking and Finance · Business

Leave a Reply

%d bloggers like this: