May 19, 2022
26 Views
0 0

मुख्यमंत्री ने गांधीनगर के महात्मा मंदिर में 3 दिवसीय वडनगर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया

Written by

मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल ने गुजरात के प्राचीन शहर वडनगर के गौरवशाली इतिहास और सांस्कृतिक विरासत को ऐतिहासिक विरासत पर्यटन स्थल के रूप में दुनिया के सामने पेश करने के लिए राज्य सरकार के संकल्प को व्यक्त किया है।

 

मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल ने देश में मनाए जा रहे स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के तहत सांस्कृतिक मामलों के मंत्रालय, राज्य सरकार के खेल, युवा सांस्कृतिक गतिविधि विभाग और संग्रहालय निदेशक द्वारा आयोजित ‘वडनगर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन’ का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रभाई मोदी थे।

 

केंद्रीय राज्य मंत्री श्रीमती मीनाक्षी लेखी, राज्य सरकार की युवा सेवाओं और सांस्कृतिक गतिविधियों के मंत्री, हर्ष संघवी, भूटान, भारत, मालदीव और श्रीलंका के निदेशक और यूनेस्को के प्रतिनिधि श्री एरिक फाल्ट के साथ-साथ पुरातत्वविद, इतिहासकार, छात्र दुनिया के विभिन्न देशों और राज्यों के विभिन्न विश्वविद्यालयों और इतिहास और पुरातत्व के प्रति उत्साही भी उपस्थित थे।

 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र पटेल ने यूनेस्को, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण और भारत सरकार तथा देश के प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों के सहयोग से राज्य की पुरातत्व विरासत और संस्कृति को विश्व पटल पर बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार की तत्परता व्यक्त की। देश।

 

मुख्य सचिव पंकज कुमार ने अपने स्वागत भाषण में सम्मेलन का उद्देश्य स्पष्ट किया

 

वडनगर को विश्व धरोहर स्थल के रूप में विकसित करने के मद्देनजर वडनगर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन विचारों, रणनीतियों और रणनीतिक सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए एक संवादात्मक मंच होगा। इतना ही नहीं, सम्मेलन में वडनगर, गुजरात के साथ-साथ वैश्विक अभ्यास के संदर्भ में पुरातत्व विरासत की प्रासंगिकता के बारे में दिलचस्प विषयों की एक श्रृंखला को कवर करने की भी योजना है।

 

वडनगर तीसरी और चौथी शताब्दी के बाद से निरंतर मानव बस्तियों से युक्त सबसे पुराने गढ़वाले शहरों में से एक है। वडनगर अपने आप में एक पुरातात्विक खजाना है।

 

सात से अधिक राजवंशों के लिए जाना जाता है, यह शहर अपनी कहानियों, स्मारकों, कला के कार्यों और पुरातत्व और ऐतिहासिक विरासत के माध्यम से अपनी विरासत और संस्कृति के लिए जाना जाता है।

इस तीन दिवसीय सम्मेलन से वडनगर के गौरवशाली अतीत, महत्वपूर्ण पुरातत्व और ऐतिहासिक धरोहर स्थलों को दुनिया के सामने पेश करने की बहुआयामी योजना साकार होगी।

Article Tags:
· ·
Article Categories:
Economic

Leave a Reply

%d bloggers like this: