Jun 9, 2022
27 Views
0 0

एमजी मोटर इंडिया ने कौशल विकास को मजबूत करने के लिए गुजरात में आइटीआइ को हेक्‍टर और जेडएस ईवी सौंपी

Written by

एमजी मोटर इंडिया ने गुजरात के गोधरा, कलोल और हलोल में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्‍थानों को हेक्‍टर एवं जेडएस ईवी प्रदान की है। इससे शिक्षा और उद्योग के बीच अंतर को कम करने और विद्यार्थियों में कौशल विकास को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। यह पहल एमजी के नर्चर प्रोग्राम के अनुरूप है और केस (CASE) मोबिलिटी के एमजी के लक्ष्‍य के मुताबिक है। इससे विद्यार्थियों में कौशल विकास को बढ़ावा मिलेगा और वे नौकरी के बेहतर अवसरों के लिए तैयार होंगे। आइटीआइ गोधरा (वुमन) में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान श्री सुजल मयात्रा (आइएएस), कलेक्‍टर,पंचमहल जिला की उपस्थिति में वाहन सौंपे गये।

इस सहयोग के बारे में एमजी मोटर इंडिया के डायरेक्‍टर-मैन्‍युफैक्‍चरिंग श्री रवि मित्‍तल ने कहा, “हम आइटीआइ के साथ हुई इस साझेदारी से खुश हैं। इसकी मदद से मोबिलिटी सेगमेंट में मौजूदा पीढ़ी का कौशल विकास होगा। हमें पूरा भरोसा है कि यह पहल तकनीकी रूप से विद्यार्थियों में बदलाव लाएगी और उन्‍हें नौकरी के अवसरों के लिए तैयार करेगी।”

एमजी मोटर इंडिया के साथ साझेदारी के बारे में श्री तरुण एन भावसर-प्रिंसिपल आइटीआइ गोधरा (नोडल ऑफीसर पंचमहल) ने कहा, “एमजी मोटर ने जिस तरह का भाव दिखाया है हम उससे सम्‍मानित महसूस कर रहे हैं। इस साझेदारी से हमारे विद्यार्थियों को वाहन संबंधी अत्‍याधुनिक तकनीकी का कौशल प्राप्‍त होगा। उन्‍हें नौकरी के लिए तैयार होने और उद्योग के बेहतर परिदृश्‍य को समझने में मदद मिलेगी। अत्‍याधुनिक तकनीकों को सीखने और उनका व्‍यावहारिक अनुभव करने से हमारे विद्यार्थी प्रतिस्‍पर्धी पेशेवर बनेंगे जिसकी हमने कल्‍पना की है।”

जेडएस ईवी और हेक्‍टर का इस्‍तेमाल शैक्षणिक उद्देश्‍यों के लिए किया जाएगा और यह गाड़ियां आइटीआइ के विद्यार्थियों को अत्‍याधुनिक वाहन प्रौद्योगिकी के बारे में गहराई से सीखने का अवसर प्रदान करेंगी। विद्यार्थी गाड़ी के पुर्जों, प्रौद्योगिकी और सिस्‍टम की व्‍यापक श्रृंखला का अध्‍ययन करेंगे जोकि उन्‍हें प्रमुख ऑटोमोटिव सिस्‍टम के व्‍यावहारिक ज्ञान से सशक्‍त बनाएगी। इससे भविष्‍य में नौकरी करने की उनकी योग्‍यता बेहतर होगी और वे उद्योग में एमजी या फिर किसी भी दूसरे ऑटोमोटिव ब्रांड के लिए तैयार होंगे।

 

Article Tags:
· ·
Article Categories:
Business

Leave a Reply