Jul 23, 2022
13 Views
0 0

मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र पटेल ने झील विकास परियोजना को स्वीकृत किया है। 8.83 करोड़ रुपये का विशेष अनुदान आवंटित किया गया है

Written by

मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल ने रुपये आवंटित किए हैं। 8.83 करोड़ रुपये का विशेष अनुदान आवंटित किया गया है।

 

जूनागढ़ शहर के मध्य में स्थित इस नरसिंह मेहता झील के विकास कार्यों के लिए नगर निगम की ओर से पूरी परियोजना रु. 48.3 करोड़ रुपये की लागत से किए जाने वाले प्रस्ताव को गुजरात नगर वित्त बोर्ड के माध्यम से मुख्यमंत्री को सौंपा गया था।

 

इसके लिए मुख्यमंत्री ने रुपये आवंटित किए हैं। 19.49 करोड़ के अलावा, यह 8.83 करोड़ रुपये स्वर्णिम जयंती मुख्यमंत्री शहरी विकास योजना के तहत विशेष अनुदान के रूप में स्वीकृत किए गए हैं।

 

जूनागढ़ में इस नरसिंह मेहता झील का कुल क्षेत्रफल 9.9 हेक्टेयर है। दो चरणों में एक करोड़ रुपये की लागत से विकास कार्य किया जाएगा।

 

इस झील के विकास के लिए जूनागढ़ नगर निगम द्वारा प्रस्तुत मास्टर प्लान के अनुसार झील रिंग रोड, तटबंध, सुरक्षा दीवार, सैरगाह, पैदल मार्ग, सुविधा खंड, पार्किंग, प्रवेश द्वार, नौका विहार गोदी, घाट, उद्यान, पेड़ से घिरी होगी। -वृक्षारोपण, प्रकाश के खंभे, द्वीप जैसी गतिविधियाँ पक्षी आकर्षण के रूप में शामिल हैं।

 

अमृत ​​योजनान्तर्गत तालाब के आस-पास के क्षेत्र के सीवेज जल को झील में मिलने से रोकने के लिए इंटरसेप्शन ड्रेनेज लाइन एवं पम्पिंग स्टेशन का संचालन। 10.00 करोड़ का काम पूरा कर लिया गया है।

 

नरसिंह मेहता झील के उन्नत विकास की इस परियोजना के पूरा होने से लगभग 30,000 की आबादी वाले आसपास के आवासीय क्षेत्र को लाभ होगा।

इतना ही नहीं शहर के बीचोंबीच रिंग रोड व पार्किंग बनने से यातायात की समस्या दूर होगी और झील का विकास कार्य पूरा होने के बाद जूनागढ़ आने वाले नागरिकों व पर्यटकों को विभिन्न मनोरंजक गतिविधियों के लिए एक नया नजारा मिलेगा. .

Article Tags:
· ·
Article Categories:
Economic · Environment & Nature · Government

Leave a Reply