Jun 1, 2022
24 Views
0 0

रिलायंस जनरल इंश्योरेंस ने रिलायंस हेल्थ गेन पॉलिसी को लॉन्च किया; ग्राहकों को अपने स्वास्थ्य बीमा को डिजाइन करने का विकल्प प्रदान किया

Written by

भारत में निजी क्षेत्र की जनरल इंश्योरेंस कंपनियों में से एक, रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (RGICL) ने सबसे ज्यादा सुविधाजनक और कस्टमाइज करने योग्य हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी – रिलायंस हेल्थ गेन को लॉन्च किया है। यह पॉलिसी ग्राहकों को अपनी जरूरत के अनुसार सुविधाओं का चयन करने और केवल चुनी गई सुविधाओं के लिए भुगतान करके अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी तैयार करने का विकल्प प्रदान करती है। RGICL ने विभिन्न प्रकार की सुविधाओं के साथ-साथ 3 योजनाओं – प्लस, पावर और प्राइम को पेश किया है ताकि, ग्राहक को अपनी जरूरतों के अनुरूप पॉलिसी तैयार करने में सहूलियत मिल सके। रिलायंस जनरल ने आज के जमाने के हर उम्र के ग्राहकों की विशेष और उभरती हुई जरूरतों को पूरा करने के उद्देश्य से इस पॉलिसी को लॉन्च किया है।

 

रिलायंस हेल्थ गेन में इस उद्योग जगत की 38 सर्वश्रेष्ठ सुविधाएं शामिल हैं, जैसे कि दोहरा कवरेज, जिसके तहत एक बार दावा करने पर उपयोग की जाने वाली बीमा राशि की दोगुनी राशि प्रदान की जाती है; संचयी बोनस की गारंटी, जो दावे के बाद संचयी बोनस का नुकसान नहीं होने देता है; या पहले से मौजूद बीमारी के लिए प्रतीक्षा अवधि को 3 वर्ष से घटाकर 2 या 1 वर्ष करने का फायदा। इस तरह के और भी कई फायदों के साथ, इस प्रोडक्ट को आज के जमाने के हेल्थ इंश्योरेंस ग्राहकों को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है।

इस लॉन्च से बेहद उत्साहित, श्री राकेश जैन, चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर, RGICL, ने कहा, “महामारी के बाद लोगों के बीच हेल्थ इंश्योरेंस को अपनाने के विचार में तेजी आई है, तथा लोग उपचार की आधुनिक सुविधाओं और स्वास्थ्य सेवाओं की बढ़ती लागत के बारे में अधिक जागरूक हो गए हैं। लेकिन आज भी ज्यादातर ग्राहकों के लिए सही बीमा कवर चुनना एक बड़ी समस्या है। रिलायंस हेल्थ गेन पॉलिसी के माध्यम से हम ग्राहकों को ‘चुनने का अधिकार’ देना चाहते हैं, ताकि वे अपनी जरूरत के हिसाब से अपना हेल्थ इंश्योरेंस डिजाइन कर सकें। हमें विश्वास है कि रिलायंस हेल्थ गेन पॉलिसी के विकल्प ग्राहकों को सशक्त बनाएंगे, और उन्हें अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों पर नियंत्रण रखने में मदद मिलेगी। ‘अपनी पॉलिसी खुद बनाएँ’ दरअसल भविष्य पर आधारित मॉडल है, क्योंकि इसका उद्देश्य पारदर्शिता और विश्वास को अधिक से अधिक बढ़ाना है।”

चाहे इच्छुक हों, संपन्न हों या उच्च वर्ग के हों, यह विशेष रूप से डिज़ाइन की गई पॉलिसी हर श्रेणी की आमदनी वाले ग्राहकों को 3 लाख से 1 करोड़ रुपये तक की बीमा राशि के विकल्पों की विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती है। 18 से 65 साल की आयु के बीच के ग्राहकों के पास किसी भी बीमा राशि में किसी भी सुविधा को चुनने और शामिल करने का विकल्प उपलब्ध है। इसके अलावा, इस पॉलिसी में 3 लाख रुपये तक की बीमा राशि के लिए कोई आयु सीमा नहीं है। इस प्रकार, वरिष्ठ नागरिक भी अपनी सेहत की सुरक्षा के लिए बड़ी आसानी से हेल्थ गेन का विकल्प चुन सकते हैं, जिन्हें अक्सर मेडिकल पॉलिसी से वंचित रहना पड़ता है। इसके अलावा, इस पॉलिसी की एक अनोखी खासियत भी है जिसमें ग्राहक अपने विस्तारित परिवार के अधिकतम 12 सदस्यों को पॉलिसी के तहत कवर कर सकता है, जिसके अंतर्गत पिता / माता / ससुर / सास / बेटी या दामाद, दादा-दादी, पोते और इसी तरह के कई अन्य रिश्ते शामिल हैं।

इसके अलावा पॉलिसी के अंतर्गत पहले से किसी तरह की शर्त के बिना, लंबी अवधि की 2/3-वर्ष की पॉलिसी खरीदने के लिए प्रीमियम पर 15% की छूट के साथ-साथ 50 वर्ष से कम आयु के स्वस्थ ग्राहकों के लिए रिवार्ड जैसे बेजोड़ प्रस्ताव भी उपलब्ध हैं। कंपनी की ओर से युवा महिलाओं के प्रति सहयोग को प्रोत्साहन दिया गया है, और अब ग्राहक बालिकाओं का बीमा कराने पर अथवा प्रस्तावक के महिला होने पर भी 5% की छूट का लाभ उठा सकते हैं। रिलायंस हेल्थ गेन पॉलिसी के अंतर्गत प्रत्येक क्षेत्र के लिए अलग-अलग तरीके से मूल्य-निर्धारण किया गया है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि ग्राहक सिर्फ अपने शहर / कस्बे की औसत चिकित्सा लागत के अनुसार प्रीमियम का भुगतान करें, जिसमें वे रहते हैं।

पॉलिसी की योजना इस तरह तैयार की गई है जिससे ग्राहकों को अपनी इच्छानुसार सुविधाओं का चयन करने तथा सिर्फ चयनित सुविधाओं के लिए ही भुगतान करने की आजादी मिलती है। इस प्रकार कंपनी ने देश में हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के खरीदने के तरीके को नए सिरे से परिभाषित किया है और इसे जनता के लिए बेहद किफायती बना दिया है। रिलायंस हेल्थ गेन पॉलिसी को 1, 2 या 3 साल की पॉलिसी अवधि के लिए कंपनी के 67000 मध्यस्थों तथा देश भर में मौजूद कंपनी के 128 शाखा कार्यालयों से खरीदा जा सकता है।

 

Article Tags:
· ·
Article Categories:
Business

Leave a Reply